2 मार्च 2015

औदीच्य बंधु 2015

औदीच्य बंधु मार्च 2015















औदीच्य बंधु
औदीच्य बंधु सार्वजनिक न्यास द्वारा संचालित,
अखिल भारतीय औदीच्य महासभा का मुख पत्र,
सहस्र औदीच्य ब्राह्मण समाज का हिन्दी भाषा में इंदोर से प्रकाशित मासिक पत्र।
   .डिजिटल प्रकाशन डॉ मधु सूदन व्यास एम आई जी 4/1 प्रगति नगर उज्जैन। 0734-2519707 / 9425379102 E Mail- audichyamp@gmail.com http://audichyabandhu.blogspot.in/   http://audichyabandhu.org/          
  1. औदीच्य बंधु मार्च 2015, चेत्र 2071, वर्ष 91 अंक -3,
  2. औदीच्य बंधु जनवरी 2015 पोष-माघ 2071वर्ष 91 अंक -1,

===============================================================================
 सहस्त्र औदिच्य ब्राम्हण समाज के हित में प्रसारित अखिल भारतीय औदीच्य महासभा का मासिक मुखपत्र

“औदीच्य बंधू”

 प्रतिमाह घर पर पाने के लिए… आज ही सदस्यता राशी निम्न पते पर प्रषित कर सदस्य बने.

मासिक पत्र आपके घर पर, सदस्यता शुक्ल सदस्य बनने के लिए  राशी मनीआडर/ड्राफ्ट से निम्न पते पर भेजे -
प्रबंध संपादक – मनमोहन ठाकर
सदस्यता शुक्ल पाँच वर्ष के लिए 750/- एवं संरक्षक सदस्यता 1500/-
सदस्य बनने के लिए  राशी मनीआडर/ड्राफ्ट से निम्न पते पर भेजे -
प्रबंध संपादक- मनमोहन ठाकर, ५९३ स्नेह नगर,इंदौर
अथवा “औदीच्य बंधु  सार्वजानिक न्यास इंदौर के स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (पलसीकर कोलोनी ब्रांच के) 
अकाउंट न.’53015573642′ स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ब्रांच पलसीकर कॉलोनी
IFS Code : SBIN 0030014 में सदस्यता राशि+अतिरिक्त रु 10/ जमा कर सदस्य बने।
राशी जमा करके या भेज कर अलग स्पष्ट अक्षरों में पत्र द्वारा अपने हिंदी एवं अंग्रेजी में पूरा नाम, पता पिनकोड, सहित पूरी जानकारी पत्र प्रषित जरुर करें।
साथ ही इस audichyabandhu.org का उल्लेख अवश्य करे । ====================================================================समाज हित में प्रकाशित।आपको कोई जानकारी पसंद आती है, ऑर आप उसे अपने मित्रो को शेयर करना/ बताना चाहते है, तो आप फेस-बुक/ ट्विटर/ई मेल आदि, जिनके आइकान नीचे बने हें को क्लिक कर शेयर कर दें।

1 मार्च 2015

Rm-150301- सुनील शर्मा , M.A. ELGLISH आय 10 लाख, कद- 5.4", जन्म-1979 मांगलिक नहीं, सर्व ब्राह्मण स्वीकार्य,

नाम-                       सुनील शर्मा 
शिक्षा-                      M.A. ELGLISH 

RF-150301 रेखा शर्मा, BA, LLB , कद- 5’ 0” जन्म 1984.

नाम –                                     रेखा शर्मा, 
शिक्षा-                                     BA, LLB and pursing Web-Designing 

27 फ़रवरी 2015

20 फ़रवरी 2015

दृष्टि हीनों के मसीहा- श्री संदीप त्रिवेदी के जज्बे को प्रणाम!

श्री संदीप त्रिवेदी के जज्बे को प्रणाम! 

  बांसवाडा राजस्थान निवासी 30 वर्षीय युवक श्री संदीप त्रिवेदी, पुत्र श्री विजय कुमार और माता हेमलता त्रिवेदी, देवयोग वश तीन वर्ष की आयु में अपने नेत्र दृष्टि खो बेठे, माता-पिता की छत्र-छाया में १९९३ में अंध विद्यालय में प्रवेश कर शीघ्र ही अपने मेधावी होने की बात सिद्ध कर दी| 

  2004 में 12 वी उत्तीर्ण कर 2007, में स्नातक, 2008 में बी एड, 2010 में अंग्रेजी में एम् ए कर व्याख्याता बने और अब 2012 में सीनियर सेकेंडरी स्कुल अजमेर में सामान्य बच्चो को अंग्रेजी पढाते हें| 

महासभा अध्यक्ष माननीय श्री रघुजी की मान प्रतिष्ठा को अपूर्णीय क्षति? -प्रबोध पंड्या उज्जैन|

महासभा अध्यक्ष माननीय श्री रघुजी की मान प्रतिष्ठा को अपूर्णीय क्षति?
 -प्रबोध पंड्या उज्जैन|
काश! राष्ट्रीय अध्यक्ष जी को इन लोगों ने अँधेरे में ना रखा होता?
महासभा की साधारण सभा में घटित असाधारण दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर हर कोई अपना पक्ष रख रहा है|  श्री मुकेश जी जोशी की ''आंखों देखि''  कुछ को सटीक तो कुछ को अनर्गल लगी|

16 फ़रवरी 2015

अ. भा. औदीच्य महासभा की साधारण सभा के घटनाक्रम का सही एवं तथ्यात्मक विवरण -प्रस्तुत कर्ता - रमेश पण्ड्या, उज्जैन

अ. भा. औदीच्य महासभा की साधारण सभा के घटनाक्रम का सही एवं तथ्यात्मक विवरण
प्रस्तुत कर्ता - रमेश पण्ड्या,  उज्जैन


     औदीच्य बन्धु के माह फरवरी 2015 के अंक में समाज के बन्धुओं व्दारा अपने अपने ढंग से  अ. भा. औदीच्य महासभा की बैठक दिनांक 11 जनवरी 2015  के घटनाक्रम पर प्रतिकियांए व्यक्त की गई है। कुछ प्रतिक्रियांए पूर्वाग्रह से ग्रसित थी,   तथा एक बन्धु व्दारा अपनी बौध्दिक शक्ति का पूर्ण उपयोग व्यक्ति विशेष की प्रतिष्ठा को ठेस पहुँचाने के उद्देश्य से ही प्रतिक्रिया व्यक्त की गई। प्रतिक्रिया विशेष जिसमें स्पष्ट तौर पर मेरा नाम उल्लेखित किया गया है,  पूर्णतः असत्य एवं समाज को भ्रामक जानकारी देने वाली प्रतिक्रिया तो है ही वहीं दूसरी और मेरी एवं समाज  के वरिष्ठजनों की प्रतिष्ठा को ठेस पहुँचाने की कुचेष्टा है।

6 फ़रवरी 2015

महासभा अध्यक्ष(औदीच्य ब्राह्मण समाज) के चुनाव में बड़ी -छोटी सम्भावाद|

महासभा अध्यक्ष(औदीच्य ब्राह्मण समाज) के चुनाव में बड़ी -छोटी सम्भावाद|
अखिल भारतीय औदीच्य महासभा के चुनाव 11 जनवरी 15 में हुए हंगामें के विषय में एक बात शोध में हमारे सामने आई है, वह यह की चूँकि श्री रघुनन्दन जी शर्मा छोटी सभा के हैं इसलिए उन्हें नहीं बनाने देना| हालाँकि
यह भी सही है की बड़ी सभा के बहुत से सदस्य और  प्रभावशाली इस छोटी बड़ी संभा भेद को नही मानते|
इस परिस्थिति में में यह बात बता देना आवश्यक समझ्र रहा हूँ, की सभी समाज जन जिनमें बड़ी सभां के लोग भी सम्मलित हें, वे स्वयं नहीं जानते की बड़ी संभा कहाँ से उत्पन्न हुई, |